सीतादेवी इन्स्टीट्यूट ऑफ होमेयोपैथिक फार्मेसी

यू.पी.डी.एच.पी. सयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020-21

उ ० प्र ० सरकार एवं होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड उ ० प्र ० द्वारा मान्यता प्राप्त

डिप्लोमा इन होमियोपैथी फार्मेसी प्रशिक्षण हेतु आवेदन पत्र

------- आरक्षण/आरक्षित स्थान-------

1. संयुक्त प्रवेश परीक्षा में उत्तर प्रदेश शासन द्वारा जारी आरक्षण नियमों का पालन किया जायेगा।

उत्तर प्रदेश शासन के शासनादेश के अनुसार आरक्षण देय होगें। यदि शासन द्वारा कोई आदेश निर्गत होते है तो उनका समावेश किया जायेगा।

आरक्षण सम्बन्धित शर्ते:

1.संयुक्तप्रवेशपरीक्षामेंउत्तरप्रदेशशासनद्वाराजारीआरक्षणनियमोंकापालनकियाजायेगा।

2. उन सभी अभ्यर्थियों को जो कि किसी श्रेणी में आरक्षण चाहते हों, उनसे अपेक्षा की जाती है कि संलग्नकों में दिये गये प्रपत्र संख्या-1, 2, 3, 4 दिये गये प्रो्फार्मो के अनुसार ही प्रमाण-पत्र संलग्न करें।

3. अनुसूचित जन जाति के अभ्यर्थी उपलब्ध न होने की स्थिति में सम्बन्धित आरक्षण अनुसूचित जाति के अभ्यर्थियों को आवंटित कर दिया जायेगा।

4. आवेदन पत्र भरते समय निश्चित कर लें कि आप किस श्रेणी में अरक्षण चाहते हैं एवं अपनी पात्र श्रेणी में ही आरक्षण हेतु आवेदन करें। कृपया ध्यान दें, आरक्षण श्रेणी में किसी भी तरह का परिवर्तन बाद में सम्भव नहीं होगा।

5. केवल जाति सूचक शब्दों के लिखने से आरक्षण का लाभ नहीं दिया जा सकता। नियमानुसार वॉंछित आरक्षण का लाभ लेने हेतु प्रमाण-पत्र की प्रमाणित प्रतिलिपि आवश्यक है। बिना प्रमाण-पत्र के आवेदन पत्र आवेदक सामान्य श्रेणी में माना जायेगा।

6. अस्पष्ट अथवा निर्धारित प्रारूप (संलग्न) में प्रमाण-पत्र न होने की दशा में भी श्रेणी सामान्य की रखी जायेगी और फार्म जमा होने के पश्चात बदला नहीं जायेगा।

आरक्षण के अन्दर आरक्षण (उदाहरणार्थ):

विशेष आरक्षण यथा स्वतंत्रता संग्राम सेनानी/विकलांग व भूतपूर्व सैनिकों के कुल प्रतिशत की मेरिट सूची सम्मिलित रूप से अलग-अलग बनायी जायेगी व उसमें निम्नवत् प्रवेश दिया जायेगा। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का वास्तवित आश्रित अभ्यर्थी यदि प्रदत्त आरक्षण के अन्तर्गत पिछड़े वर्ग का है तो उसे अन्य पिछड़े वर्ग के लिए ही आरक्षित सीटों में समायोजित किया जायेगा। इसी प्रकार यदि विकलांग अभ्यर्थी को प्रदत्त आरक्षण के अन्तर्गत चयनित अभ्यर्थी अनुसूचित जाति या सामान्य श्रेणी का है, तो उसे अनुसूचित जाति या सामान्य श्रेणी के लिए आरक्षित सीटों में ही समायोजित किया जायेगा।