सीतादेवी इन्स्टीट्यूट ऑफ होमेयोपैथिक फार्मेसी

यू.पी.डी.एच.पी. सयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020-21

उ ० प्र ० सरकार एवं होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड उ ० प्र ० द्वारा मान्यता प्राप्त

डिप्लोमा इन होमियोपैथी फार्मेसी प्रशिक्षण हेतु आवेदन पत्र

------- काउसिंलिंग -------

लिखित परीक्षा के आधार पर चयनित अभ्यर्थियों को काउसिंलिंग हेतु बुलाया जायेगा। परीक्षा परिणाम हेतु नियमित रुप से वेबसाइट का अवलोकन करते रहें। परीक्षा परिणाम के एक सप्ताह पष्चात् बेबसाइट www.updhp.org से अपना बुलावा पत्र डाउनलोड कर सकते है। काउसिंलिंग की सूचना आपको मोबाइल पर एस.एम.एस. द्वारा भी दी जायेगी । जहाँ वे उपलब्धता व मेरिट के आधार पर ही अपने प्रषिक्षण केन्द्र का चयन कर सकेंगे।

काउसिंलिंग के समय लाने वाले दस्तावेज:

1. हाईस्कूल परीक्षा के अंक-पत्र व प्रमाण-पत्र की मूल एवं प्रमाणित प्रतिलिपि।

2. इण्टरमीडिएट परीक्षा के अंक-पत्र व प्रमाण-पत्र की मूल एवं प्रमाणित प्रतिलिपि।

3. वांछित आरक्षण का लाभ लेने वाले निर्धारित प्रारूप प्रमाण-पत्र की मूल एवं प्रमाणित प्रतिलिपि।

4. उ0प्र0 का मूल निवासी होने का सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण-पत्र।

5. विभागाध्यक्ष द्वारा जारी अनापत्ति प्रमाण-पत्र।

काउसिंलिंग का तरीका:

* काउसिंलिंग में मेरिट क्रम में छात्रों को काउसिंलिंग समिति के समक्ष बुंलाया जायेगा। प्रतीक्षा कक्ष तथा काउसिंलिंग कक्ष में एल.सी.डी. प्रोजेक्टर के द्वारा प्रषिक्षण केन्द्रो व रिक्त स्थानों की सूचना दिखायी जाती रहेगी, जिससे आपको प्रषिक्षण केन्द्र का चयन करने में आसानी होगी।

काउसिंलिंग षुल्क:

* काउसिंलिंग में सम्मिलित होने के पूर्व रु. 300.00 का षुल्क जमा करना होगा।

काउसिंलिंग में बुलाने का क्रम:

* काउसिंलिंग में सबसे पहले हाॅरिजाण्टल आरक्षित श्रेणियों को बुलाया जायेगा। स्वतंत्रता सेनानी, विकलांग (विकलांग प्रमाण पत्र सहित) भूतपर्व सैनिक (स्वयं) को इसी क्रम में बंलाया जायेगा। इसके बाद अनुसूचित जनजाति (एस.टी.) के अभ्यथियों को बुलाया जायेगा।

* इनसे रिक्त सीटों को उनकी श्रेणी में जोडने के बाद ही षेप काउसिंलिंग कम्बाइण्ड मेंरिट सूची के आधार पर की जायेगी। मेरिट में प्रथम 50 प्रतिषत सीटों के लिए अभ्यर्थी (सभी श्रेणी के) और उन्हें प्रषिक्षण केन्द्र व सीटों को, अपने क्रम के समय उपलब्ध सीटों में से चुनने की स्वतंत्रता होगी। इस कम्बाइण्ड मेरिट सूची में अर्ह आरक्षित श्रेणी के छात्रों को अपनी इच्छानुसार श्रेणी तथा सीटें चुनने का विकल्प उपलब्ध रहेगा।

* उदाहरणार्थ यदि आरक्षित श्रेणी का अभ्यर्थी अपने मेरिट क्रम में, अपनी पसंद के केद्र में सीट नहीं पाता है, परन्तु उस पसंद के केन्द्र में उसे अपनी श्रेणी में सीट मिल जाती है तो वह उसका चयन कर सकता है, परन्तु तब उसका चयन, आरक्षित श्रेणी में माना जायेगा।

* कुल सीटों से ज्यादा अभ्यर्थी बुलाये जायेंगे जससे अनुपस्थित अभ्यथियों की रिक्त सीटों पर प्रवेष पर सके। परन्तु बुलाने का यह अर्थ नहीं लगाया जाये कि उन्हें अवष्य ही चयनित का लिया जायेगा।

* यदि कोई अभ्यर्थी स्वयं काउसिंलिंग के निर्धारित दिन व समय में उपस्थित नहीं होता है तो वे केवल उसी दिन की काउसिंलिंग में आवंटन से वंचित होगा और अगली काउसिंलिंग में भाग लेने के लिए अर्ह रहेगा। उसी दिन अथवा बाद में आने पर उस समय उपलब्ध सीटों में से ही आवंटन प्राप्त करने 10 का अधिकार होगा। आवंटन हेतु अभ्यर्थी को स्वयं उपस्थित होना अनिवार्य होगा।

* काउसिंलिंग के तुरन्त बाद ही छात्र का आवंटन पत्र दे दिया जायेगा। जिसे प्राप्त करने बाद तत्काल फीस जमा कर निर्धारित तिथि के अन्दर ही प्रषिक्षण केन्द्र में प्रवेष लेना होगा। ज्वाइनिंग की तिथि किसी भी दषा में बढ़ाई नहीं जाएगी ।